समर्थक

रविवार, 3 मई 2009

हटो, यह रास बंद करो

हटो, यह रास बंद करो
हास-परिहास बंद करो

यह कलम है, खुरपी नहीं
छीलना घास बंद करो

गूँजती युद्ध की बोली
खेलना ताश बंद करो

भूख का इलाज बताओ
यार! बकवास बंद करो (100)

कोई टिप्पणी नहीं: