समर्थक

शुक्रवार, 19 दिसंबर 2008

कालकूट पी कौन जिया है ?




कालकूट पी कौन जिया है ?

 


कालकूट पी कौन जिया है, गली-गली में चर्चा है
चर्चा का मुँह कहाँ सिया है, गली-गली में चर्चा है

 

 


लाठी ने टोपी वालों से, गोली ने कुछ भूखों से
जासूसों का काम लिया है, गली-गली में चर्चा है

 

 


देसी खद्दर के कुर्तों ने , जिनकी मुट्ठी में कुर्सी
झुक कर उन्हें प्रणाम किया है, गली-गली में चर्चा है

 

 


बिजली वाले हर बादल को, पूंजीवादी सूरज ने
नक्सलपंथी नाम दिया है,  गली-गली में चर्चा है

 

 


एक मसीहा ने प्यासों के, एक विदुर के हाथों से
पानी एक गिलास पिया है,गली-गली में चर्चा है
            [६५]

1 टिप्पणी:

उन्मुक्त ने कहा…

अरे बम बम भोले को भूल गये क्या।